Thursday, April 11, 2013

स्वागतम नववर्ष संवत २०७०




शिमला। हिंदी माह के हिसाब से विक्रमी संवत 2070, 11 अप्रैल को आरंभ हो रहा है। यह वर्ष चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से आरंभ होगा। इस वर्ष का राजा गुरु तथा मंत्री शनि है व संवत का नाम प्राभव है। यह वर्ष मिला-जुला असर देने वाला रहेगा, क्योंकि नव संवतसर छह ग्रहों के योग में काल सर्प के प्रभाव में आरंभ हो रहा है।
संवतसर शुक्र अस्त के समय में आरंभ हो रहा है। इसके प्रभाव से अन्न, धन, हानी तथा राजनीतिक क्षेत्र में असमंजस्य रहेगा। वर्ष के अंत में प्रदेश में नए राजनीतिक समीकरण बनने के योग हैं। ग्रहों के प्रभाव से वातावरण व मौसम में अनिश्चितता बनी रहेगी, जिससे फलों व अन्य फसलों को हानी होगी। वर्ष के राजा बृहस्पति के प्रभाव से इस वर्ष सोना, केला, केसर, हल्दी, तांबा, लकड़ी के दामों में उछाल जाएगा। शनि के मंत्री होने के प्रभाव से लोहा, शीशा पेट्रोलियम पदार्थो व वाहनों के मूल्य में भी वद्धि हो सकती है। माना जाता है कि सृष्टि का आरंभ भी विक्त्रमी संवत से हुआ था, इसी कारण इसे नव वर्ष के रूप में मनाया जाता है। मर्यादा पुरुष श्रीराम चंद्र का जन्म व राज्याभिषेक भी इसी संवत के आरंभ में हुआ था ! 

No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!