Friday, June 21, 2013

पढो तो एसे पढो भाग - 4



1- हम जितनी भी चीजो को पढ़ते है, हमारे पढने के उद्देश्य उतने ही अलग-अलग होते है !

2- हमारी आँखे हमारे मस्तिष्क रूपी कैमरे का लेंस होती है !

3- जो हमारी आँखों को अच्छी लगती है और हमारे मन को प्रसन्न करती है, वह हमारे मस्तिष्क पर भी
    सकारात्मक प्रभाव डालती है !

4- साहस की धारा हमेशा संकल्प की गंगोत्री से ही फूटती है !

5- जब आप पढ़ते है तो आपका मन आपको धोखा देकर आपसे पूछे बिना आपको छोड़कर कही और चला
    जाता है !

6- यदि आप एक पैराग्राफ भूलते है, तो मै समझता हु कि उस टापिक की पूरी व्यवस्था को नष्ट कर देते है !

7- हमे जिन बातो से चिढ हो जाती है, उन बातो को हमारा मस्तिष्क अच्छी तरह स्वीकार नहीं करता !

8- किसी विषय के प्रति भय या उसके प्रति होने वाली चिढ से मुक्त होने का सरल और प्रभावकारी उपाय है-
    उसका अभ्यास करना, निरंतर अभ्यास करते रहना !

9- रोज कुछ न कुछ पढिये, भले ही उसमे मन न लगे !

10- कोशिश कीजिये कि आपको कोई येसा दोस्त मिले जिससे आप अपने पढ़े गये विषय पर अगले दिन चर्चा
      कर सके !

         यह भी पढ़े :-


    

No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!