Wednesday, October 23, 2013

शायरी





बस चाहत यही है की हम जी ले जी भर के 

पर कम्बख्त साथ चलने वाला जो कोई न था !!!!

No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!