Tuesday, April 30, 2013

Bits Of Life



Life is no sanctuary
Of desire and fulfilment
Each day extends
Vagaries of nothingness
And I go on
Eating solitude and slow time
Bit by bit
With silence

My walks to the beach
Bring images intermixed
The chopping of waves
The hustling of winds
Amid chicken roasting streets
And I go on
Eating solitude and slow time
Bit by bit
With silence

I often ask,
Is it my life
For which i pursued forth ?
Mind approves......
Heart denies ......
And I go on
Eating solitude and slow time
Bit by bit
With silence.

My look to the east
Brings memories on sea waves
Children, wife, parents
Kinsfolk, friends, teachers
Inheriting a loss,
I go on
Eating solitude and slow time
Bit by bit
With silence ...by- Dr.Vachaspati Dwivedi 

Dr.Vachaspati Dwivedi  जी द्वारा भेजी लेख
अगर आप की कलम भी कुछ कहती है तो आप भी अपने लेख हमे भेज सकते है ! हमारा Email id - bindasspost.in@gmail.com ... 


निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

हमे अपना सहयोग दे जिससे और भी अच्छे पोस्ट मै Send कर सकू ! .. धन्यबाद ....
"जय हिन्द जय भारत'' 

Monday, April 29, 2013

माँ



कब्र के आगोश में जब थक कर सो जाती है माँ ,
तब जाकर थोडा सुकूं पाती है माँ !
फ़िक्र से बच्चो की कुछ यैसे घुल जाती है माँ ,
नौजवा होते हुए बूढी नजर आती है माँ !
रूह के रिस्तो की ए गहराइया तो देखिये,
चोट लगती है हमे चिल्लाती है माँ !
कब जरूरत हो मेरे बच्चो को ,
इतना सोचकर जागती रहती है आँखे, सो जाती है माँ !
घर से परदेश जाता है कोई नुरे नजर ,
हाथ में गीता लेकर दर पर आ जाती है माँ !
जरा परेशानी में घिर जाते है हम ,
परदेश में आंसूओ को पोछने ख्वाबो में आ जाती है माँ !
चाहे हम खुशियों में माँ को भूल जाये दोस्तों ,
जब मुसीबत सर पर आये तो याद आती है माँ !
लौटकर सफर से वापस जब कभी आते है हम ,
डालकर बाहे गले में सर को सहलाती है माँ !
हो नहीं सकता कभी अहसास उसका आपको ,
मरते - मरते भी दुआ जीने की दे जाती है माँ !
मरते दम, बच्चा न आ पाये अगर परदेश से ,
अपनी दोनों पुतलिया चौखट पे रख जाती है माँ !
प्यार कहते है किसे और ममता क्या चीज है ,
ये तो उन बच्चो से पूछो जिनकी मर जाती है माँ !!!

निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप कोई पोस्ट हमसे Share करना चाहते है तो भेजे हमारा  Email id - bindasspost.in@gmail.com  पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  
हमे अपना सहयोग दे जिससे और भी अच्छे पोस्ट मै Send कर सकू ! .. धन्यबाद ....
"जय हिन्द जय भारत "    

Thursday, April 25, 2013

भारतीय संस्कृति



भारतीय जब संस्कार भुलाते हैं तो WESTERN हो जाते हैं,
जाने क्यूँ अच्छाई छोड फूहड्पन अपनाते हैं,
जानवरों का चमडा और फटी JEANS पहन इतराते हैं,
विनाशकाले विपरित बुद्धि, फैशन उसे बतलाते हैं।

रिश्ते नाते छोड जब पैसे के पीछे जाते हैं,
मां-बाप, गुरु का अनादर कर नयी पीढ़ी खुद को बताते हैं,
कपडे छोटे करने से क्या ज्यादा MODERN हो जाते हैं,
संस्कृति की ये हालत देख सच्चे भारतीय शर्माते हैं।

पश्चिमी सभ्यता में पैसा सब है यहां संस्कार सिखाए जाते हैं,
वहां नग्नता की सभ्यता है यहां चरित्र बनाए जाते हैं,
भगत सिहं का देश है ये यहां ITALIAN क्यूँ लाये जाते हैं,
सबका भला करना संस्कृति है हमारी वहां हथियार बनाये जाते हैं।

हजारों भूखे मरते हैं यहां और दिल्ली वाले सो जाते हैं,
खून उनका विदेशी है, न ही भारतीय ऐसा सह पाते हैं,
युवाओं सुनो, सोचो ओर समझो,क्यूँ विदेशी अपनाकर ईतराते हो,
भारतीय हो, भारतीयता अपनाओ क्यूँ पत्थर को पारस बताते हो ?

प्यार और संस्कार सभ्यता है हमारी, वहां सिर्फ पैसा और नग्नता है,
पिछले अच्छे कर्मों के कारण ईंसान भारत में जनमता है,
क्या अच्छा है क्या बुरा है ये हर भारतीय पहचानता है,
किन्तु
जिस सभ्यता की तरफ जा रहे हो वहां बेटा मां को नहीं जानता है। ........by Khem Singh .


निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप कोई पोस्ट हमसे Share करना चाहते है तो भेजे हमारा  Email id - bindasspost.in@gmail.com  पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  
हमे अपना सहयोग से जिससे और भी अच्छे पोस्ट मै Send कर सकू !
"जय हिन्द जय भारत " 



Wednesday, April 24, 2013

भारतीय जनतंत्र



कैसा हो गया यह जनतंत्र,
कहा गये जन, कैसे अलग हो गया यह तंत्र,
बदल गयी सारी परिभाषाए ,
अमीरों के हाथ में अब यह तंत्र है !

इस जन तंत्र में जनता है कहा,
आज भी झोपड़ियो में है पड़ी ,
जनता के प्रतिनिधि करते यहा राज है,
जनता की ही बात सुनने को ही वक्त नही !

आते है वोटो के लिए ,
उसके बाद जनता से ही मतलब नही,
कैसा हो गया यह जनतंत्र,
कहा गये जन कैसे अलग हो गया यह तंत्र !

घूस के बिना होता न कोई काम है,
हर तरफ धोखा-धड़ी घोटालो का नाम है,
इस तंत्र की विगड़ रही सारी ब्यवस्था,
गरीबो का रहा कहा यह जनतंत्र है !

कोई खाता रोज इमरती,
कोई सुखी रोटी को बेहाल है,
किसी के पास सौ - सौ कारो का अम्बार है,
इस जनतंत्र की महिमा अपार है !



निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप कोई पोस्ट हमसे Share करना चाहते है तो भेजे हमारा  Email id - bindasspost.in@gmail.com  पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  
हमे अपना सहयोग से जिससे और भी अच्छे पोस्ट मै Send कर सकू !
"जय हिन्द जय भारत " 

Tuesday, April 23, 2013

बेटिया


ओस की बूंद सी होती है, बेटिया !
खुरदुरा हो स्पर्श तो रोती है, बेटिया !!

रौशन करेगा बेटा बस एक बंश को !
दो -दो कुलो की लाज ढोती है , बेटिया !!

कोई नही है दोस्तों, एक दुसरे से कम !
हीरा अगर है बेटा, तो मोती है बेटिया !!

कांटो की राह पे खुद चलती रहेगी रोज !
औरो के लिए फूल ही बोती है, बेटिया !!

बिधि का बिधान या दुनिया की है ये रस्म !
क्यों सब के लिए भार होती है, बेटिया !!

धिक्कार है उन्हें जिन्हें बेटी बुरी लगे !
सबके लिए बस प्यार ही संजोती है, बेटिया !!

निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप के पास कोई अच्छा Post है जो खुद आप का हो तो हमे अपने फोटो के साथ हमारे Email id - bindasspost.in@gmail.com पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  

"जय हिन्द जय भारत " 

Sunday, April 21, 2013

जीवन का सत्य



जन्म से लेकर मृत्यु तक का सफर ही जीवन है !
बचपन ,जवानी और बृद्धाअवस्था ही जीवन के तीन पड़ाव है ,
जैसे कि एक पौधे में फुल,फल और पत्तिया तीन पड़ाव है !
                    आज जीवन तीन रंगो में डूबा हुआ है -

1-जटिलता
2 -कुटिलता
3 - प्रतिस्पर्धा

सभी शामिल है एक अंधी दौड़ में, लक्ष्य या मंजिल ज्ञात नही है और अनजान है !
शांति लुप्त हो रही है, क्यों नही लोग इस शांति को खोजने का पयत्न कर रहे है !
क्यों नही लोग फुल जैसा बनने की कोशिश कर रहे है ,दुनिया और समाज में प्रकाश तब आएगा !
जब एक - एक ब्यक्ति के अन्दर दुसरे ब्यक्ति के लिए आत्मीयता का भाव जागृत होगा ...!



निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप के पास कोई अच्छा Post है जो खुद आप का हो तो हमे अपने फोटो के साथ हमारे Email id - bindasspost.in@gmail.com पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  

"जय हिन्द जय भारत " 

Friday, April 19, 2013

रामनवमी की शुभकामनाये



रामनवमी के पावन अवसर पे आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाये 

नशा करने वाले सावधान



दारू पिने से क्या नफा !
बीबी बच्चे रहे खफा !!

बीड़ी पीकर खांस रहा है !
मौत के आगे नाच रहा है !!

गुटखा खाओ गा्ल गलाओ !
बीमारी को तन में बसाओ !!

पिटती औरत बिकते जेवर !
छोड़ शराबी येसे तेवर !!

गांजा भांग, शराब तम्बाकू !
तन - मन ,धन के है ये डाकू !!

कफ करू खांसी करू फिर भी !
नही मरे तो मै क्या करू !!

Related Post - नशेबाजो के लिए इनामी प्रतियोगिता


निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप के पास कोई अच्छा Post है जो खुद आप का हो तो हमे अपने फोटो के साथ हमारे Email id - bindasspost.in@gmail.com पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  

"जय हिन्द जय भारत " 

Thursday, April 18, 2013

सज्जनता का काढ़ा



  यदि आप सज्जन बनना चाहते है तो निम्न काढ़े का सेवन करे, आप में सज्जनता आते देर नही लगेगी -

आवश्यक सामग्री -  

                                     सच्चाई के पत्ते  
                                     ईमानदारी की जड़ 
                                     उदारता का अर्क 
                                     परोपकार का बीज 
                                     सत्संग का रस 
                                     रहम दिल का छिलका 
                                     स्वदेश प्रेम का रस 
                                     दान - शीलता का सिरका 

बनाने की विधि - 

             सभी सामग्री को परमात्मा रूपी वर्तन में रखकर प्रेमभाव से चूल्हे पर रखकर प्रेम की अग्नि से पकाये पक जाने पर शुद्ध मन के कपड़े से छानकर, मस्तिष्क की शीशी में भर ले !

सेवन विधि - 

              इसको प्रतिदिन संतोष के गुलकंद के साथ इंसाफ की चम्मच से तीन बार सुबह ,दोपहर और शाम को सेवन करे !

नोट - इसका निर्माण किसी फार्मेसी द्वारा नहीं, आप के द्वारा सम्भव है !

निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !

अगर आप के पास कोई अच्छा Post है जो खुद आप का हो तो हमे अपने फोटो के साथ हमारे Email id - bindasspost.in@gmail.com पर लिख भेजे अच्छा लगने पे आपके Post को आप के Name के साथ  Publish की जाएगी  

"जय हिन्द जय भारत " 


Thursday, April 11, 2013

स्वागतम नववर्ष संवत २०७०




शिमला। हिंदी माह के हिसाब से विक्रमी संवत 2070, 11 अप्रैल को आरंभ हो रहा है। यह वर्ष चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से आरंभ होगा। इस वर्ष का राजा गुरु तथा मंत्री शनि है व संवत का नाम प्राभव है। यह वर्ष मिला-जुला असर देने वाला रहेगा, क्योंकि नव संवतसर छह ग्रहों के योग में काल सर्प के प्रभाव में आरंभ हो रहा है।
संवतसर शुक्र अस्त के समय में आरंभ हो रहा है। इसके प्रभाव से अन्न, धन, हानी तथा राजनीतिक क्षेत्र में असमंजस्य रहेगा। वर्ष के अंत में प्रदेश में नए राजनीतिक समीकरण बनने के योग हैं। ग्रहों के प्रभाव से वातावरण व मौसम में अनिश्चितता बनी रहेगी, जिससे फलों व अन्य फसलों को हानी होगी। वर्ष के राजा बृहस्पति के प्रभाव से इस वर्ष सोना, केला, केसर, हल्दी, तांबा, लकड़ी के दामों में उछाल जाएगा। शनि के मंत्री होने के प्रभाव से लोहा, शीशा पेट्रोलियम पदार्थो व वाहनों के मूल्य में भी वद्धि हो सकती है। माना जाता है कि सृष्टि का आरंभ भी विक्त्रमी संवत से हुआ था, इसी कारण इसे नव वर्ष के रूप में मनाया जाता है। मर्यादा पुरुष श्रीराम चंद्र का जन्म व राज्याभिषेक भी इसी संवत के आरंभ में हुआ था ! 

21वी सदी



21वी सदी के बच्चे अकल के न होगे कच्चे ,
         बडो को ठेंगा दिखाये येसे है ये बच्चे !
21वी सदी की नारी मर्दों पर भारी ,
         पहनेगी कोट - पैन्ट उतारेगी साड़ी !
21वी सदी के शिष्य कक्षा में रहेगे अदृश्य ,
         हाथ में होगी उनके कोक, मुंह से बोलेगे श्लोक ,
         "गुरु: टीवी, गुरु: सी.डी., गुरु: देखो कम्प्यूटरम !
          गुरु: साक्षात् रिमोट: तस्मै श्री गुरुवे नम: !!
21वी सदी के नेता देश को करेगे पनेता ,
         जनता को मार - म़ार कर बनेगे विजेता !
21वी सदी में शादी समय की होगी बरबादी ,
         यू ही मौज करो, नही बढ़ेगी आबादी !
21वी सदी में भोजन की जहमत न उठाइयेगा ,
         दो कैप्सूल सुबह शाम खाइयेगा ,
         माशा अल्लाह! तन्दुरुस्ती पाइयेगा !
21वी सदी का पति, पत्नी के साथ होगा सती ,
         करवा चौथ का ब्रत करेगा सदा सुहागन रहेगा !!!  


निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !
"जय हिन्द जय भारत " 

Saturday, April 6, 2013

अपनी उम्मीद इनसे जगाना



सीखो इस जमाने से क्या सिखाता है जमाना 
किसी से उम्मीद रखना पर खुद को छोटा न बनाना 
अगर मुँह मोड़ ले कोई अपना तो ,
खुद के तरीको से जीना सिख जाना !
जीत में शालीन बने रहना पर 
घर में शालीनता छोड़ न जाना !
जो हो न सके तुमसे उसमे ,
खुद को ब्यर्थ न गवाना 
जिन्दगी की राह में बस आगे बढ़ते जाना ,
पर वक्त व लालच की वजह से ,
गलत काम में मत पड़ जाना !
कोई मर गया तो क्या हुआ ,
उसके मरने पे तू आँसू न बहाना !
बस बोल देना उससे सब ठीक है बंदे ,
तू चला गया तो क्या हुआ !
कल मुझे भी है तेरे पास आना ..
सीखो इस जमाने से यही सिखाता है जमाना ....

निवेदन   - अगर आप को ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप हमे comment के माध्यम से जरुर बताये ! दोस्तों आप से उम्मीद करता हु कि इस blog को आप सभी follow/join करेगे ! Join कर हमे अपना सहयोग दे ! Facebook Friends आप Facebook पर Comment कर सकते है !
"जय हिन्द जय भारत "