Sunday, March 16, 2014

इस तरह आज होली मनाएगें हम



इस तरह आज होली मनाएगें हम
इस तरह आज होली मनाएगें हम
तुम आना लेके गुलाल और लगायेगे हम 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
कर देगे सारे गीले सिकवे दूर हम  
इस तरह तुम्हे लगायेगे गुलाल हम 
की न छूटेगा कोई अंग  
तुम छुड़ाओगी कलाई फिर भी न छोड़ेगे हम 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
प्यार के रंग में साथ नहायेंगे हम 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
मै जनता हु हो तुम गुस्सा
पर आ जाना हाथो में गुलाल लिए  
और मै मनाउ तो मान जाना प्रिये 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
कि कर देगे सारे गीले सिकवे दूर 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
मैं जनता हु मनाउगा तो मान जाओगी प्रिये 
जो भी वादे किये थे निभाएंगे हम 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
इस तरह आज होली मनाएगें हम............
चाँद तारो का दिल नहीं तोडना
चाँद तारो का दिल नहीं तोडना 
अपने कमरे कि खिड़की खुली छोड़ना 
चाँद तारो का दिल नहीं तोडना
अपने कमरे कि खिड़की खुली छोड़ना 
तुम ना आओगी तो आयेगे हम 
बस अपने कमरे की खिड़की खुली रखना 
तुम ना आओगी तो आयेगे हम 
इस तरह आज होली मनाएगें हम
इस तरह आज होली मनाएगें हम ............... इस तरह आज होली मनाएगें हम

[ Happy Colourfull Holi ]

More Post- 


No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!