Thursday, March 6, 2014

भक्ति सार



आंखें हर पल तोहे ढूंढे राधिका
हर क्षण आंसू हैं बहते रहते
आजा सामने इक बार महारानी
हैं धन्य धाम बरसाना तेरा

No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!