Friday, May 20, 2016

प्यार का अनोखा रंग



कमल कीचड़ से कैसे हो दूर 
कमल को तो है कीचड़ में ही खिलना 
तने को रखे है भले मुझसे दूर 
पर बाह फैलाए जकड़ी है मुझे 
जब - जब आती तेज हवा 
जैसे मानो चाहती हो तने से मुझे मिलाना
हवा की झोको से झुके कमल इतना 
जैसे मानो चुम रही है मुझे कितना
कीचड़ कमल का प्यार है इतना  
!!!! जैसे हो प्यार का अनोखा रंग कितना !!!!

Related Post

अब तू ही तू है

Name पे Click करे -
Youtube - Bindass Post channel को Subscribe करे 
Facebook - Bindass Post Page like करे 
Twitter-      @gauravbaba93 Follow करे

Wednesday, May 18, 2016

अब तू ही तू है


!!!! तुम रूबरू जो हो गये हो मेरे से !!!! 
हमको ना जाने क्या हो गया 
आँखो से ये दिल धड़का रहे हो जो
सीखे कहा से ये जादू नया 
साये सा साथ रहना तू हर पल 
तरे बिना हु मैं भी क्या कुछ भी नहीं 
!!!! अब तू ही तू है हर कही !!!!!



Related Post




Name पे Click करे -
Youtube - Bindass Post channel को Subscribe करे 
Facebook - Bindass Post Page like करे 
Twitter-      @gauravbaba93 Follow करे

Friday, May 13, 2016

मेरे प्रियवर


चाहे मैं रहु जहां या मैं रहु ना रहु 
तेरे मेरे प्यार की उम्र सलामत रहे 
चाहे ये जमी आसमाँ रहे ना रहे 
तेरे मेरे प्यार की उम्र सलामत रहे
डर है तुझे मैं खो ना दू 
मिले जो खुदा तो बोल दू 
की मैं ये दो जहाँ का क्या करू 
तू जो मेरे पास है, 
मुझको ना कोई प्यास है 
मेरी तो पूरी हो गयी हर दुआ 
चाहे मेरे जिस्म में ये जान रहे न रहे 
तेरे मेरे प्यार की उम्र सलामत रहे

Related Post


प्यार भरी कविताएँ

Name पे Click करे -
Youtube - Bindass Post channel को Subscribe करे 
Facebook - Bindass Post Page like करे 
Twitter-      @gauravbaba93 Follow करे