Wednesday, January 1, 2014

अरे थोडा हस लो यार




"अंधेरोँ मेँ जी रहा हूँ आजकल,

जैसे कि सबकुछ लुट गया है,
कुछ और ना समझो इसको यारो,
मेरे गाँव का ट्रांसफार्मर फुक गया है।"

Next- 1234

No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!