Saturday, March 22, 2014

देशभक्ति कविता



अब चल पड़े कदमो से कदम मिला कर
तो रुकना ना हो कही पर 
जी जान लुटा दे भारत माँ के लिए
अगर मौका मिले एक बार तो 

जब कोई दुश्मन भारत माँ को दिखाए तेवर 
तो हम सभी ढीले कर दे उसके तेवर !! 

अगर दुश्मन हो आगे, तो दिखा दे हम अपनी ताकत !!

हम चेता देते है तुम सभी को कि हद में रहो,
हम  म  .. म .चेता देते है तुम सभी को कि हद में रहो 
हम है भारत माँ के लाड़ले, जो जीते है हथेली पे जान लिए !!

अब चल पड़े कदमो से कदम मिला कर
तो अब ना रुकना होगा कही पर 

तुम लाख चाहो रोकना, पर रोक न सकोगे
इसलिए हद में रहो वरना तुम जाओगे अपने जान से 
डाल दो अपने हथियार हमारे सामने 
वरना जाओगे तुम अपने जान से
क्योकि चल पड़े है कदमो से कदम मिला कर 
तो अब हम न रुकेंगे कही पर 

Next - 1234

No comments:

Post a Comment

आप अपने सुझाव हमें जरुर दे ....
आप के हर सुझाव का हम दिल से स्वागत करते है !!!!!